Search This Blog

Tuesday, March 8, 2016

कीठम झील सूर सरोवर पक्षी विहार..Keetham Lake, Runkata,Agra (कुछ पल आगरा से ......7)

आगरा दुनियाभर में जाना पहचाना नाम और एक विश्वप्रसिद्ध पर्यटक शहर जिसे अपनी पहचान देने की कोई आवश्यकता नही, क्योकि इस ऐतिहासिक शहर में विश्व धरोहर सूचि में शामिल तीन स्थल मौजूद है , एक ताजमहल, दूसरा लाल किला और तीसरा फतेहपुर सीकरी । अधिकतर देशी-विदेशी पर्यटक और घुमंतू व्यक्ति दुनिया की सबसे खूबसूरत ईमारत और भारत का आश्चर्य ताजमहल की वजह से इस शहर में आते है और कम जानकारी की वजह से ताजमहल के आलावा आगरा के कुछ और प्रसिद्ध पर्यटक स्थल का भ्रमण करके कर लौट जाते है । चलिए आज आपको ले चलते है आगरा के एक प्राकृतिक स्थल की सैर पर →

कीठम झील सूर्यास्त के समय ( Keetham Lake at the time of Sunset)
इस ऐतिहासिक नगरी में मुगलकालीन ईमारतें, किला और बाग़ बगीचे के अलावा और भी कुछ है जो दुनिया नजर से बचा हुआ है, जिसे हम छुपे हीरे का नाम #hiddenplaces का नाम दे सकते है । क्या आप सोच सकते है कि ऐतिहासिक ईमारतों और कब्रो के बीच कोई प्राकृतिक स्थल भी हो सकता है, जी हाँ ! एक बहुत बड़ी झील आगरा शहर में भी है और उसका झील नाम है "कीठम झील" Keetham Lake या कीथम झील ।  इसके साथ ही ये झील क्षेत्र एक पक्षी विहार भी है जिसे "सूर सरोवर पक्षी विहार" (Soor Sarovar Bird Sanctuary) के नाम से भी जानते है । उत्तर प्रदेश वन विभाग द्वारा इस मार्च 1991 इसे राष्ट्रीय पक्षी उद्यान घोषित किया गया था । इस झील का एक बड़े क्षेत्रफल में करीब सात वर्ग किलोमीटर फैली हुई है । इस झील में पानी की आपूर्ति दिल्ली के ओखला बैराज से निकली आगरा कैनाल से होती है, ये कैनाल कीठम झील की जल आपूर्ति करती हुई आगे जोधपुर की तरह निकल जाती है । इस झील का पानी का उपयोग मथुरा रिफाइनरी में संसोधन के लिए किया जाता है । झील की परिद्रश्य कुछ मीटर की दूरी से यमुना नदी बहती हुई निकलती है । झील और नदी क्षेत्र दोनों मिलकर इस जगह को पक्षी विहार के लिए एक आदर्श स्थल बनाते है । इसी झील के एक तरफ  भालू  सरंक्षण गृह (Bear Rescue Center) वन विभाग द्वारा बनवाया गया है, जहाँ पर काले भालुओं को मदारियों की कैद से छुड़वाकर रखा गया है ।

यह स्थल आगरा से करीब 22 किलोमीटर दूर एक रुनकता नाम के गांव में पड़ता है । रुनकता आगरा जिले का एक छोटा कस्बा है और इसका एक रुनकता नाम से रेलवे स्टेशन भी है । NH2 पर आगरा से दिल्ली जाते समय सिकन्दरा से आगे रुनकता नाम की जगह आती है , उससे कुछ किलोमीटर आगे दाई तरफ झील की तरफ जाने वाला प्रवेश द्वार आता है । इसी प्रवेश द्वार पर एक टिकिट काउंटर भी है, जहाँ से झील क्षेत्र में प्रवेश शुल्क प्रतिव्यक्ति रु 20/- अदा करके ही इस परिसर में प्रवेश किया जा सकता है । उसके आलावा कार और बाइक अंदर ले जाने शुल्क अलग से देना होता है । यदि झील में बोटिंग करनी है या भालू सरंक्षण गृह देखना है तो उनके टिकिट अलग से से इसी काउंटर लेनी होती है । ध्यान रहे की ये जगह कुछ किलोमीटर अंदर है, सो टिकिट लेकर ही अंदर जाए क्योकि अंदर किसी भी प्रकार की टिकिट नही मिलती ।

एक सर्दी के सुबह, रविवार के दिन अचानक से हम मित्रो का कार्यक्रम कीठम झील जाने कार्यक्रम बना गया और इस कार्यक्रम को तुरंत क्रियान्वित भी किया । हम चार लोग मित्र मोटरसाइकिल से लगभग एक बजे के आसपास निकल पड़े इस झील की यात्रा पर । राष्ट्रिय राजमार्ग संख्या 2 पर (NH-2) लगभग 6 किलोमीटर चलने के बाद गुरु का ताल पहुँच गये, यहाँ पर गुरु तेगबहादुर सिंह जी की याद ने एक एतिहासिक विशाल गुरुद्वारा है । गुरु का ताल से करीब 4 किलोमीटर आगे चलने पर सिकन्दरा पहुँच गये  है, यहाँ पर मुग़ल बादशाह अकबर मकबरा  (Akbar Tomb) है । सिकंदरा से करीब 8 किलोमीटर चलने के बाद रुनकता नाम के गाँव पहुँच गये, इस गाँव को महान कवि सूरदास जी जन्मस्थली मन जाता है । रुनकता से 5 किलीमीटर चलने के बाद हाइवे के किनारे कीठम झील पर जाने वाला प्रवेश द्वार पर पहुँच गये । यहाँ से अन्दर जाने के लिए पत्री व्यक्ति रु.20/- और मोटरसाइकिल अन्दर ले जाने का रु.30/- प्रति मोटरसाइकिल का चुकता कर टिकिट लिया और अन्दर चल दिए ।

कुछ सौ - दो सौ मीटर अन्दर जाने पर बाए तरफ एक बच्चो का बड़ा घास का पार्क है, जहाँ पर बच्चो के लिए झूले, फिसलपट्टी, सी-सां, लोहे के संरचना आदि लगी हुई थी । खैर हम लोग पार्क की तरफ न रुककर, खूब सारे जंगली पेड़-पौधे मध्य एक पतली सी सड़क चलते रहे । हाइवे से करीब 1.20 किमी० चलने के बाद प्रथम बार सड़क के दाहिने तरफ कुछ नीचे से अधाह पानी से परिपूर्ण कीठम झील के दर्शन हो गये । यहाँ से झील का स्वरूप बड़ा ही मनोरम दिख रहा था, कुछ अंजान और विदेशी प्रवासी पक्षी भी नजर आ रहे थे । हालांकि यहाँ से झील की तरफ जाना मना है, फिर भी हम लोग झील की तरफ आकर्षित होकर मोटरसाइकिल सडक किनारे खड़ी करके झील की तरफ नीचे उतर ही गये । हवा तेज चल रही तो और झील के पानी की लहरे किनारे से टकरा रही थी । झील किनारा काफी बड़ा था और टहलने के लिए काफी जगह भी थी, हमारी देखादेखी और कुछ लोग भी झील के उसी किनारे पर उतर गये । काफी देर यहाँ से झील के स्वच्छ के समक्ष अवलोकन किया, खूब फ़ोटो खींची । कीठम झील के सदृश्य हम लोगो भरपूर आनन्द की अनुभूति हुई ।

झील के इसी किनारे-किनारे करीब आधा किलोमीटर अंदर की तरफ चलने पर एक रास्ता दाहिने तरफ जाता दिखाई दिया । मोड़ पर एक बोर्ड लगा था रास्ता सुरकुटि । हम लोग भी झील का किनारे वाला रास्ता छोडकर पहले इसी मोड़ से करीब करीब आधा किलोमीटर अंदर चले गये । यही पर पर यमुना नदी के किनारे एक आश्रम सा से दिखाई दिया । इस जगह का नाम सूर कुटी है, जो राष्ट्रिय राजमार्ग - 2 से करीब दाई किलीमीटर दूर है । यहाँ पर कवि सूरदास जी को याद में समर्पित एक अंधे बच्चों का विद्यालय, उनके रहने की व्यवस्था कक्ष, एक सूर श्याम मन्दिर, महाकवि सूरदास स्मारक और एक आश्रम है । यहाँ पर यमुना किनारे घूमने का भी अपना अलग आनन्द है । यहाँ पर भी देशी विदेशी प्रवासी पक्षियों का दर्शन हो जाते है । सूर कुटी में यदा-कदा घूमते हुए हम लोग यमुना नदी के तहलटी में उतरकर कुछ देर चहलकदमी की। सूरकुटि और यमुना भ्रमण के पश्चात हम वापिस उसी रास्ते से झील पर आ गये । 

झील के किनारे-किनारे कुछ दूर चलने के बाद दाई भालू भालू सरंक्षण गृह (Bear Rescue Center) दिखाई दिया । यहाँ पर काले भालुओं को एक बड़े से खुले वातावरण में एक बड़े से बाड़े में रखा गया है । बाड़े के चारो तरफ एक ऊँची दीवार और उसके ऊपर कंटीली विधुत प्रवाह करती लोहे की तार लगी हुई है । अन्दर जाने इस बाड़े में भालुओ कोप देखने के लिए टिकिट लगती है जो हमारे पास नहीं थी ।चौकीदार ने अन्दर जाने से मन कर दिया और कहा की हाइवे के टिकिट घर से टिकिट लेकर आओ, तब आप लोगो को अन्दर जाने देंगे । हमने कहा की इतनी दूर बाहर टिकिट लेने तो हम नही जायेंगे तो उसने कहा की आपको यदि भालू देखने है तो बाड़े के किनारे-किनारे इस रास्ते पर चले जाओ, बिलकुल बाड़े के पीछे एक वांच टावर है, अगर किस्मत अच्छी हुई  उस पर चढ़कर आपको भालू दिख जायेंगे । फिर हमने ऐसा ही किया और पैदल ही चल दिए । वाच टावर पर चढ़कर हम लोगो को तीन काले भालू बाड़े में नजर आ ही गये । कुछ देर बाद वापिस झील के किनारे उसी सड़क पर आ गये ।

यहाँ पर भालू के बाड़े से कुछ कदम चलने के बाद बोटिंग स्नाथक (Boat Stand) आ गया, जहाँ से झील में बोटिंग करने के लिए पेडल बोट उपलब्ध हो जाती है । यहाँ पर बोटिंग के लिए भी टिकिट बाहर के टिकिट घर से लानी पड़ती है । यहाँ से थोडा और आगे चलने पर दाहिने तरफ एक छोटा पार्क और उसी पार्क में एक केंटीन भी है । पिकनिक मनाने वाले लोग इस पार्क में खा पीकर आराम करते है और कुछ अपनों के साथ खेल कूद कर अपनी पिकनिक के आनन्द की अनुभूति करते है । 

इससे आगे झील के किनारे-किनारे घूमने झील का सम्पूर्ण आनन्द लिया जा सकता है । एक जगह जाकर एक बड़ा सा गेट लगाकर इस रास्ते को बन्द कर दिया गया है । हो सकता है, यहाँ से आगे जाने के लिए वन विभाग की आज्ञा लेनी होती होगी । सुना है इससे आगे अजगर रेस्क्यू सेंटर और फलो के बाग भी है । झील में प्रवासी पक्षियों का प्रवास अक्सर बना रहता है । झील में कलरव करते पक्षी बड़े सुहाने नजर आते है ।हम लोग भी उसी रास्ते से वापिस चल देते है, सूर कुटी वाले मोड़ से कुछ दूर चलते ही एक ढलान वाला रास्ता झील के अंदर की तरफ जाता हुआ नजर आया । हम लोग मोटरसाइकिल को इसी रास्ते पर नीचे उतरकर अन्दर की तरफ चल दिए । यह झील के अन्दर पेड़-पौधों से युक्त कुछ ऊँचा उठा हुआ स्थान है । अंतिम छोर पर पहुँचने पर यहाँ पर झील के किनारे से एक ऊँचा वाच बना हुआ है, जहाँ से झील के बीच में होने का अहसास होता है और सम्पूर्ण झील का विहंगम नजारा दिखाई देता है ।  हम लोगो ने भी इस वाच टावर पर चढ़कर झील का जायजा लिया है, दूर गहरे में पानी में कुछ पक्षी कलरव करते दिखाई दिए तो दाई तरफ झील के मध्य बोटिंग स्टैंड और झील में तैरती बोट नजर आई ।  शाम होने की थी सो सूर्यास्त भी बहुत सुहाना नजर आ रहा था, पानी में पड़ती सांध्यकालीन सूर्य की रश्मियाँ दिल को लुभा रही थी । कुछ समय इस झील क्षेत्र की गोद में बिताने के बाद वापिस लौटने का समय हो गया तो हम लोग उसी रास्ते से वापिस शहर की तरफ अपने घर को चल दिए  ।
A road of Keetham Lake (कीठम झील का अन्दुरुनी रास्ता )

A road of Keetham Lake (कीठम झील का अन्दुरुनी रास्ता )

कीठम झील का किनारा (Shore of Keetham Lake)

A beautiful view of Keetham Lake (झील का एक शानदार नजारा )
Keetham Lake, Runkata , Agra (कीठम झील,रुनकता , आगरा )
Keetham Lake, Runkata , Agra (कीठम झील,रुनकता , आगरा )
A bird at kheetam Lake (एक प्रवासी पक्षी झील पर )
A shore of the Lake (कीठम झील का किनारा )
साफ़ पानी झील का (Fresh Water at Keetham Lake)
Keetham Lake, Runkata , Agra (कीठम झील,रुनकता , आगरा )
Soor Kuti at River Bank of Yamuna (यमुना नदी के किनारे सूर कुटी, कीठम, आगरा )
सूर श्याम मंदिर (Soor Shyam Temple at Soor Kuti, Keetham )
River Yamuna at Soor Kuti, Runkata (सूर कुटी पर यमुना का नजारा )
River Yamuna at Soor Kuti, Runkata (सूर कुटी पर यमुना का नजारा )
River Yamuna at Soor Kuti, Runkata (सूर कुटी पर यमुना का नजारा )
भालू  सरंक्षण गृह (Bear Rescue Center)
भालू  सरंक्षण गृह में कुछ काले भालू  (Black Bear in Rescue Center)
कीठम झील के पास एक पिकनिक पार्क (A Park beside Keetham Lake)
A beautiful view of Keetham Lake (झील का एक शानदार नजारा )
A beautiful view of Keetham Lake (झील का एक शानदार नजारा )
Birds at Keetham Lake (झील के बीचो बीच का नजारा )
A beautiful view of Keetham Lake (झील का एक शानदार नजारा )
A beautiful view of Keetham Lake (झील का एक शानदार नजारा )
बोटिंग कीठम झील में (Boat at lake)
Boat stand at Lake (कीठम झील पर बोट स्नाथक )
Aview of Keetham Lake (झील का एक  नजारा )

मेरी नजर में आगरा का ये सम्पूर्ण प्राकृतिक पर्यटक स्थल है जहाँ शहर की भागम भाग में से कुछ पल अपनों के साथ शन्ति और सुकून से इस झील के सुरम्य और शांत वातावरण में बिताये जा सकते  है । इसी के साथ इस लेख का समापन करते है । आशा करता हूँ आपको आगरा का ये प्राकृतिक स्थल जरुर पसंद आया होगा । । आगरा के और भी अन्य स्थल की जानकारी के लिए नीचे दिए लिंक पर जाइए । धन्यवाद..... 

इस ब्लॉग का फेसबुक पेज भी लाइक कीजिये, हमेशा इस ब्लॉग के अपडेट के लिए → सफ़र है सुहाना

▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬
आगरा से श्रृंखला के लेखो की सूची :

2. ताजमहल (TAJMAHAL) → विश्व की एक खास धरोहर (कुछ पल आगरा से ......2)
3. लालकिला (Red Fort, Agra) → आगरा की एक और विश्व धरोहर (कुछ पल आगरा से ......3) 
4. एत्माद्दौला, आगरा → Itmad-ud-Daulah (Baby Taj), Agra ( कुछ पल आगरा से....... 4 ) 
5. अकबर का मकबरा (Akbar Tomb, AGRA)→बादशाह का आरामगाह (कुछ पल आगरा से ....... 5)
6. ताज नेचर वॉक (Taj Nature Walk,AGRA)→प्रकृति से ताज के दर्शन (कुछ पल आगरा से ....... 6)
7. महताब बाग ( Mehtab Bagh )→ मुगलकालीन खूबसूरत बाग (कुछ पल आगरा से ......7)
8. कीठम झील सूर सरोवर पक्षी विहार..Keetham Lake, Runkata,Agra (कुछ पल आगरा से ......7)
▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬



27 comments:

  1. रितेश जी बहुत अच्छी जानकारी दी आपने कीमत झील के बारे में, कभी आगरा आना हुआ तो यहां भी होकर आगे।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद सचिन जी...... आप जरुर आइये

      Delete
  2. आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल बुधवार (09-03-2016) को "आठ मार्च-महिला दिवस" (चर्चा अंक-2276) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  3. हम भी आगरा को सिर्फ ताज के वजह से ही जानते थे पहले, लेकिन आपने ताज के आगे का आगरा दिखा दिया.

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद प्रजापति जी

      Delete
  4. कीठम झील स्थानीय लोगों का पसंदीदा स्थल कहा जा सकता है ! आगरा मथुरा दोनों शहरों के लिए एक खूबसूरत जगह है ! रितेश जी धन्यवाद एक नयी और लगभग अनछुई जगह तक ले जाने के लिए !!

    ReplyDelete
    Replies
    1. सही कहा आपने, ये स्थानीय लोगो का पसंदीदा है ...यदि बहार के लोग भी आये तो उनके लिए पसंदीदा स्थल हो जायेगा...

      Delete
  5. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, " दूसरों को मूर्ख समझना सबसे बड़ी मूर्खता " , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर रितेश जी!

    ReplyDelete
  7. एक बढ़िया स्थल की जानकारी करायी आपने इस के माध्यम से, आगरा में ताज के अलावा कुछ और भी देखा जा सकता है जान कर अच्छा लगा।

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी धन्यवाद हर्षिता जी.... आपके विचार अच्छे लगे

      Delete
  8. Bahut sunder chitrankan aur yatra varnan..
    Mere blog ki new post par aapke vichro ka intzaar hai.

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद जी.... आपका स्वागत है

      Delete
  9. khoobsurat sthan rochak varnana beautiful pics

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद कविता जी |

      Delete
  10. सही कहा भाई आपने, ताज के अलावा भी बहुत कुछ है आगरा में घूमने को। सुन्दर विवरण।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद बीनू भाई..

      Delete
  11. बहुत ही अच्छा लगा पढकर, जानकारी के लिए धन्यवाद।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद ललित यादव जी.....

      Delete

ब्लॉग पोस्ट पर आपके सुझावों और टिप्पणियों का सदैव स्वागत है | आपकी टिप्पणी हमारे लिए उत्साहबर्धन का काम करती है | कृपया अपनी बहुमूल्य टिप्पणी से लेख की समीक्षा कीजिये |

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Ad.

Popular Posts