Search This Blog

Tuesday, June 13, 2017

श्री वृन्दावन धाम - एक दिव्य स्थल (Vrindavan - A Divine Place )

Written By Ritesh Gupta

राधे राधे !
ये दिव्य शब्द वृन्दावन की गलियों में हर तरफ गूंजता सुनाई देगा, क्योकि ये नगरी भगवान श्रीकृष्ण और राधा रानी की भक्ति से ओतप्रोत भक्तो की नगरी जो है । यहाँ के निवासी/अनिवासी अभिवादन स्वरूप आपस मे एक दूसरे से यही "राधे राधे" शब्दो का उपयोग करते है । एक कहावत है - जहाँ के कण कण में बसे हो श्याम वो श्री वृन्दावन धाम । यहाँ की मृदा, वायु और जल मे सब जगह भगवान श्रीकृष्ण का वास माना जाता है, इस तीर्थ क्षेत्र की यात्रा करने वाला भक्त अपने आपको बहुत सौभाग्यशाली मानता है और भगवान श्री कृष्ण की भक्ति में सारोबार हो जाता है । इस क्षेत्र को बृज क्षेत्र या बृज भूमि कहते है जिसमे मथुरा, वृन्दावन, गोकुल, गोवर्धन,  आगरा , धोलपुर, जलेसर, भरतपुर, हाथरस, अलीगढ, इटावा, मैनपुरी, एटा, कासगंज और फ़िरोज़ाबाद आदि जिले आते है । चलिये चलते है इस पोस्ट के माध्यम से उत्तरप्रदेश के मथुरा जिले में स्थित विश्व प्रसिद्ध वृंदावन धाम की पावन यात्रा पर -

रंगीन प्रकाश से अद्भुत छवि प्रस्तुत करता है "प्रेम मंदिर", वृन्दावन  (Colorful by Light beautiful Prem Mandir, Vridavan)

Friday, June 2, 2017

निप्पोंज़न मायोजी बुद्ध मंदिर, कोलकाता ( Nipponzan Myohoji Buddhist Temple, Kolkata by Kishan Bahety)

 Guest Post Written by Kishan Bahety 

                                                              "बुद्धम् शरणम् गच्छामि"

ये मन्त्र एशिया के उन सभी देशो में आपको सुनने मिल जायेगा, जिसे दुनिया के उन्नत देशो में से एक माना जाता है, पर जिस देश से बौद्ध मन्त्र और धर्म की उत्पत्ति हुई है वही इसका सबसे पहले पतन भी हुआ । कुछ जगहों (बिहार का "गया") को छोड़कर ।  जिस बौद्ध की बाते हमारे पाठयक्रम में शामिल है वो बस किताबो तक ही सीमित रह गया है । भारत में बौद्ध धर्म का मुख्य स्थल या केंद्र बिन्दू  (Main Center) "गया" है, जहाँ भगवान गौतम बुद्ध का सबसे बड़ा मंदिर है । इसके अलावा भारत में कई मंदिर या स्तूप देखने को मिल जायेगे, तवांग से लेकर लद्दाख तक,  मनाली से लेकर राजगीर तक । जो हर जगह पर्यटको के लिए खास आकर्षक का केंद्र है ।  ऐसा एक बौद्ध मंदिर या स्तूप हमारे शहर कोलकाता में भी है, अफ़सोस इस पर बंगाल पर्यटन का कोई विशेष ध्यान न देने के कारण गुमनामी के अँधेरे में जा रहा है ।

Nipponzan Myohoji (Japanese) Buddhist Temple, Kolkata (निप्पोंज़न मायोजी बुद्ध मंदिर, कोलकाता )

Thursday, May 25, 2017

श्रीनगर की सैर - कश्मीर (Local Tour to Srinagar, Kashmir... 8)

Written By Ritesh Gupta

इस श्रंखला को प्रारम्भ से पढ़ने के लिए यहाँ पर क्लिक कीजिये । "सुहाना सफर और ये मौसम हसीन, हमे डर है की हम खो न जाए कही "इस गीत के बोल कश्मीर की वादियों में विचरण करते समय सटीक बैठती है ।कश्मीर के मुख्य नगर श्रीनगर में मुगलों के प्रभाव अपने समय में काफी रहा था सो यहाँ पर उन्होंने और उनके अनुयायियों ने इस नगर में काफी बाग़ और बगीचे विकसित किये थे । उन्ही बागो में से एक है श्रीनगर का सबसे बड़ा और विख्यात बाग़ "निशात बाग" (Mughal Garden Nishat) जिसे मुगल गार्डन भी कहते है । चलिए चलते है आज की पोस्ट के माध्यम से श्रीनगर की सैर पर -

"निशात बाग" में पैदल चलने का स्थान  (Mughal Garden Nishat, Srinagar, Kashmir)
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Ad.

Popular Posts