Search This Blog

Tuesday, February 23, 2016

रींचेनपोंग- सिक्किम... Rinchenpong, Sikkim → A Hidden Place, Information by Kishan Bahety.

Guest Post Written by Kishan Bahety   

मेरे परम मित्र श्री किसन बाहेती जी, जो भारत के एक बड़े शहर कोलकाता शहर के निवासी है और जबरदस्त घुमक्कड़ भी । आज की गेस्ट पोस्ट में किसन जी रींचेनपोंग, पश्चिमी सिक्किम के बारे में अपने इस यात्रा के लम्हे और अनुभव प्रस्तुत करने जा रहे है । रींचेनपोंग, सिक्किम (Richenpong, Sikkim) का अद्भत और अनछुआ स्थल है, जो पश्चिमी सिक्किम में स्थित है । ये एक छोटा पहाड़ी क़स्बा है और बेहद खूबसूरत प्राकृतिक स्थल भी है । रिचेनपोंग सिक्किम की राजधानी गंगटोक से केवल 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। समुन्द्रतल से इस कस्बे की ऊँचाई लगभग 5576 फीट है और इसका अधिकतर भाग घने जंगलो से घिरा हुआ है । चलिए अब पढ़ते है उनकी जुबानी लिखित इस स्थल के बारे में →

रींचेनपोंग से कंचनजंघा पर्वत का नजारा (Mount Kanchenjungha)



रींचेनपोंग, सिक्किम (Richenpong, Sikkim)


लेखक (Writer) → किसन बाहेती जी 
#‎hiddenplaces‬. छुपे हीरे का मतलब यही होता है कि जहां कोई पहले गया ना हो या बहुत कम लोग इस जगह के बारे में जानते हो । बहुत सोचने के बाद मुझे मेरे यात्रा के दौरान एक ऐसी जगह याद आई है, जहां मेरे ख्याल से काफी कम लोग ही इस जगह को घूमें होंगे । ये जगह सिक्किम में है, और गंगटोक के बेहद करीब भी है , इसका नाम है Rinchenpong । यहाँ ज्यादतर लोग ट्रेकिंग के लिए आते है ।  इसके अलावा यहाँ एक पुरानी मोनेस्ट्री है और Poison Lake है । गंगटोक से करीब 90 किलोमीटर की दूरी पर है और New Jalpaigudi  (NJP) से करीब 120 किलोमीटर की दूरी पर है ।

मैंने कंचनजंगा को गंगटोक से भी देखा है पीलिंग से भी देखा है, पर यहाँ से Kanchenjungha का सूर्योदय देखने का जो मजा आया वो और कही नहीं था । कम सैलानी जाने आने के कारण यहां पर रहने की जगह अच्छी है ,  और होटल बहुत कम दामों मिल जाती है । यहाँ का village रिसोर्ट भी बहुत सुन्दर है । यहाँ पर एक झील भी जिसका नाम है पोइजन लेक ।

Poison Lake ( बिख पोखरी)।
इस झील के बारे में कहाँ जाता है की वहा के राजा ने अपने लेपचा आदिवासी के साथ मिलकर ब्रिटिश सेना के हमले से बचने के लिए इसमें अज्ञात जड़ी बूटी डाल दी । जिससे इसका सारा पानी विषाक्त हो गया । इसका पानी पीकर आधी ब्रिटिश सेना मर गयी और जो बची वो भाग गयी । इस प्रकार राजा ने बिना लड़े ही लड़ाई जीत ली ।

एक मोनेस्ट्री भी है जहा ज्यादतर तिब्बत के बच्चे पढ़ने आते है । इसकी और एक खाशियत है की इसके अंदर बुद्ध की जो प्रतिमा है वो सबसे अलग है । इस मोनेस्ट्री में अंदर फ़ोटो लेना मना था । यहाँ बुद्ध अपने माँ की गोद में है,  ऐसा किसी मोनेस्ट्री में पहली बार तो देखकर हम लोग चौक गए । फिर वहा के गुरूजी से पूछा तो उन्होंने बताया की दुनिया में यही एक  जगह है जहाँ बुद्ध अपनी माँ के साथ उनकी गोद में विराजमान  है । यानि यहाँ पर उनके बचपन का स्वरुप है । यहाँ दिसंबर में भी मौसम अच्छा रहता है ।

चलिए अब देखते इस सुन्दर स्थल को चित्रों की जुबानी →

न्यू जलपाईगुड़ी स्टेशन का बोर्ड (New Jalpaigudi Railways Station)
स्टेशन के बाहर एक टॉय ट्रेन का इंजन नुमाइश के लिए लगा हुआ
सिक्किम की जीवन दायिनी नदी - तीस्ता नदी
तीस्ता नदी और खूबसूरत नजारा
रंगपो में सिक्किम का द्वार
चलो हम भी बन गये सिक्किम वासी
एक खूबसूरत रंगीनबौद्ध मंदिर
अक्सर पहाड़ी रास्तो में भुट्टे बिकते नजर आ जाते है
कंचनजंघा (Mount Kanchenjungha)

रिचेनपोंग से एक बर्फीले पर्वत का नजारा
रिचेनपोंग कस्बे के घने जंगल
एक खूबसूरत झरना और मैं (किसन बाहते )

कंचनजंघा (Mount Kanchenjungha)
चलिए उपरोक्त जानकारी के इस यात्रा लेख का समापन करता हूँ   । आशा करता हूँ , आपको इस नई जगह के बारे पढ़कर अच्छा लगा होगा । इसी के साथ आप सभी बहुत बहुत धन्यवाद  ।
(C) किसन बाहेती


My Another post on this Blog...

1. रींचेनपोंग- सिक्किम... Rinchenpong, Sikkim → A Hidden Place, Information by Kishan Bahety. 
2. 108 शिव मंदिर समूह, वर्धमान (108 Shiva Temple at Nawab hat, Bardhaman, West Bengal)
3. कोलकाता का एक छुपा स्थल → तेरेत्ति बाजार (About Tiretti Bazar, Kolkata by Kishan Bahety )
4. सी आईपी चर्च और टोंग ऑन चर्च - कोलकाता (Kolkata- Sea Ip Church & Tong on church by Kishan Bahety) 
5. निप्पोंज़न मायोजी बुद्ध मंदिर, कोलकाता ( Nipponzan Myohoji Buddhist Temple, Kolkata by Kishan Bahety)



18 comments:

  1. बहुत बढ़िया रितेश भाई

    ये हीरा तो किसन भाई हमें दिखा ही चुके है लेकिन आज आप इसे सम्पूर्ण विश्व के सामने ले आये सराहनीय प्रयास ।

    किसन भाई आपकी तारीफ़ तो इस हीरे के लिए पहले की ही जा चुकी है ;)

    बहुत ही उम्दा जानकारी और पोस्ट ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. संजय जी ये सब रितेश जी की मेहनत का फल है । बिना उनके सहयोग के ये संभव नहीं था ।और साथ में मै अपने घुमक्कडी दिल से समूह के सभी सदस्यों को भी धन्यवाद देना चाहता हु जिन्होंने मुझे प्रोत्सहन दिया ।

      Delete
  2. Replies
    1. धन्यवाद संजय जी

      Delete
  3. बढ़िया लिखा है किशन जी ने और सबके सामने आ ले आये। दोनों की काबिले तारीफ़ मेहनत

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद हर्षिता जी
      ये सब आप लोगो की संगत का ही असर है जो में यहाँ लिख पाया हु ।
      शायद मुझसे ज्यादा मेहनत रितेश जी ने की ऐ

      Delete
  4. bahut sunder lekh kishan ji aaur photo bhi ek se badhkar ek ...ritesh ji apka bahut dhanyawad iss post ko yaha lane ke liye..

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद मैडम जी
      ख़ुशी हुई की आपने मुझे पास कर दिया ।
      अब कितने no मिले ये भी बता दीजिये ।

      Delete
  5. रितेश जी
    आपका बहुत बहुत धन्यबाद ।

    ReplyDelete
  6. सुंदर लेखन किशन और फोटू तो है ही खूबसूरत ।नई श्रृंखला के लिए बधाई ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद बुआजी
      बस आप सभी का साथ यु ही बना रहे। कही कोई त्रुटि हो तो उसकी जानकारी अवश्य दीजिये ।

      Delete
  7. Behtareen. Ek shabd jo Jankari, photos aur likhne ke bare mein main kahna chahunga. Asha hai aane wale samay mein ye silsila chalta rahega aur jyada log Jud payenge paryatan aur group se.

    ReplyDelete
    Replies
    1. विमल जी
      धन्यबाद

      Delete
  8. Well done Kishan bhai...
    Sair kar duniya ki kafir naujawani phir kaha
    Naujawani gar phir rahi par Jindagani phir kaha

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद टाइगर ।
      हम तीनो दोस्तों ने जो सपना देखा है वो जरूर सच् करेगे ।

      Delete
  9. beautiful pictures... thanks for sharing :-)

    Cheers, Archana - www.travelwitharchie.com

    ReplyDelete
  10. Very informative, keep posting such good articles, it really helps to know about things.

    ReplyDelete

ब्लॉग पोस्ट पर आपके सुझावों और टिप्पणियों का सदैव स्वागत है | आपकी टिप्पणी हमारे लिए उत्साहबर्धन का काम करती है | कृपया अपनी बहुमूल्य टिप्पणी से लेख की समीक्षा कीजिये |

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Ad.

Popular Posts