Search This Blog

Wednesday, October 22, 2014

नैनीताल दर्शन → (A Quick Tour to Lake City, Nainital)


Written by → Ritesh Gupta 
पिछली पोस्ट में आपने पढ़ा नौकुचियाताल के बारे में । अब इस श्रृंखला को आगे बढ़ाते हुए चलते है आगे के यात्रा वृतांत पर ।

ऊँचाई पर स्थित होने के कारण भीमताल का तापमान मैदानी इलाको की तुलना काफी ठंडा था, जिस कारण से रात को काफी सुकुन भरी नींद आई । सुबह उठ कर जल्दी से अपनी दिनचर्या से निर्वत होकर, हम लोग होटल की तीसरी मंजिल पर स्थित रेस्तरा में सुबह के नाश्ते के पहुँच गए । आज के नाश्ते में पोहे, सेंडविच, पकोड़े, चाय, काँफी और जूस था । जल्दी से नाश्ता-पानी करके अपनी कार से आज की नैनीताल यात्रा का शुभारंभ कर दिया ।

Beautiful Naini Lake from Mallital Side, Nainital (नैनीताल के मल्लीताल के तरफ वाले किनारे नैनीझील का द्रश्य )

होटल से नीचे उतरने के बाद भीमताल झील के किनारे बने रास्ते से होते हुए नैनीताल वाले रास्ते पर चल दिए । कुछ देर चलने के बाद पता चला की कार को डीजल की आवश्यकता है, तो भीमताल के कुछ दूरी पर स्थित एक पेट्रोल पम्प पर डीजल डलवाने के लिए लाइन में लग गए । जब हमारा नंबर आया तो तो किसी कमी के चलते डीजल की मशीन सुस्त अवस्था चली गयी काफी देर प्रतीक्षा करने के बाद भी मशीन शुरू नहीं हुयी तो वहाँ से चल दिए । हमारे वहाँ से निकलते ही मशीन फिर से शुरू हो गयी खैर फिर से लाइन में लगने का समय नहीं था और सोचा की भोवाली वाले पम्प पर डीजल डलवा लेगे यही सोचकर अपने सफ़र को जारी रखा । भीमताल से करीब दस किलोमीटर चलने के बाद भोवाली पहुँच गए,

नैनीताल जिले में स्थित भोवाली एक पहाड़ी क़स्बा है जो नैनीताल से भीमताल, नौकुचियाताल, सातताल, अल्मोड़ा, मुक्तेश्वर और भी अन्य स्थल जाते समय एक जगह सड़क संधि (As a Road Junction) के रूप में जाना जाता हैं । नैनीताल से इसकी दूरी लगभग 11 किमी० हैं और भीमताल से दस किलोमीटर । भोवाली मुख्तय अपने फलो के बाग, फलो की मंडी और टी.बी. के अस्पताल के लिए प्रसिद्ध हैं । भोवाली से परिवहन के अधिकता (वाहनों के आवागमन) के कारण यहाँ पर खाने-पीने का काफी बड़ा अच्छा-खासा बाजार व्यवस्थित हैं । भोवाली में स्थानीय मिठाई जैसे बाल मिठाई, उत्तराखंडी ताजा फल, स्वादिष्ट आचार आदि कुछ यहाँ के बाजारों में उपलब्ध हैं । भोवाली पहुचने के बाद हम लोगो ने अल्मोड़ा रोड वाले पेट्रोल पम्प से डीजल डलवाने के बाद नैनीताल की राह पकड़ ली । 

रास्ते के पहाड़ी नजारों का अवलोकन करते हुए करीब बारह बजे के आसपास हम लोग  नैनीताल पहुँच गए । तल्लीताल चौक से खूबसूरत नैनीझील और ठंडी आवोहवा हम लोगो का बाहे पसार कर स्वागत कर रही थी । तल्लीताल से मल्लीताल जाने के लिए मॉलरोड से गुजरना होता है जो कि एक टोलरोड है । यहाँ पर करीब पचास रूपये टोल के रूप में अदा कर नैनीझील के किनारे होते हुए मल्लीताल वाली पार्किंग पर पहुँच गए पर यह क्या ? पार्किंग में गाड़ी खड़ी करने के लिए जगह नहीं थी । एक पुलिस वाले ने हम लोगो को यहाँ से लगभग आधा किलोमीटर दूर हाईकोर्ट रोड पर स्थित दूसरी पार्किंग पर भेज दिया । कुछ लोगो को मल्लीताल वाली पार्किंग के पास उतार कर हम दूसरी पार्किंग पर पहुँच गए । इस पार्किंग में हम लोगो को जगह मिल गयी, पार्किंग की फीस 200/- प्रति गाड़ी थी, जो कि हमारे हिसाब से बहुत अधिक थी ।

जब तक हम लोगो ऊपर वाली पार्किंग से निकलकर नीचे पहुंचे तो नीचे रुके हमारे साथियों ने नैनीताल के दर्शन पॉइंट घूमने के लिए तीन सौ रूपये में एक गाइड कर लिया, अब पता नहीं गाइड ने उन्हें पकड़ लिया या उन्होंने गाइड को पकड़ लिया । गाइड करने का कारण बाद मैं मुझे यह पता चला की "सभी लोगो की केविल कार में बैठने की इच्छा थी, पर आज के लिए केविल कार की बुकिंग बंद हो चुकी थी और हम लोगो के पास आज का ही दिन था, पर उस गाइड में विश्वास दिलाया था कि यदि आप स्नो व्यू तक कार से चल सको तो मैं आपको वहाँ पर केविल कार से नीचे आने टिकिट आप लोगो को दिला सकता हूँ और साथ ही आपको  नैनीताल के कुछ स्थल भी घूमा दूँगा ।" गाइड के साथ नैनीताल घूमने के लिए अब जरुरत थी कार की, पार्किंग से कार को वापिस लेकर आये और चल दिए आसपास के स्थलों के दर्शन करने के लिए । 

सबसे पहले हम लोग पहुंचे खुरपा ताल व्यू पॉइंट पर । यहाँ से खुरपाताल बिल्कुल छोटा कटोरे जैसा नजर आ रहा था, जिसमे आसमानी नीला पाने भरा हुआ था । कुछ देर यहाँ पर यहाँ पर समय बिताने के बाद पहुंचे लवर्स पॉइंट / सुसाइड पॉइंट पर, यहाँ से पहाड़ की गहराई और और खड़े पहाड़ की ऊँचाई का लुफ्त लेने बाद किलवरी मार्ग से होते हुए स्नो व्यू मार्ग  पर आ गए । किलबरी मार्ग के मुकाबले यह रास्ता बहुत संकरा था । खैर इस रास्ते पर एक स्थान ऐसा आया जहाँ से पूरी की पूरी नैनी झील और उसके आसपास जगह साफ-सफा नजर आ रही  थी । ठंडी हवा के मदमस्त झोंको बीच इस मनोहारी नयन / आम के आकार की नैनीझील का दूरस्थ दर्शन किया जो वाकई में एक अद्भुत अनुभव था । यहाँ पर काफी देर तक फोटो खींचे और उसके बाद चल दिए स्नो-व्यू पर । पहाड़ की काफी चढ़ाई वाली और संकरी सड़क से होते हम कुछ देर में स्नोव्यू पर पहुँच गए । स्नोव्यू टॉप पर काफी सारी दुकाने वृत्ताकार में बनी हुई है और दूसरी तरफ बड़े और बच्चो के लिए भरपूर मनोरंजन के लिए एक बड़ा मनोरंजक पार्क (Children Park) बना हुआ है । जहाँ पर झूले और कार रेसिंग आदि का आनंद लिया जा सकता है । हम लोग यहाँ पर घूम ही रहे थे कि हमारा गाइड स्नोव्यू से नीचे मॉल रोड पर जाने के लिए केविल कार की टिकिट ले आया, टिकिट का मूल्य 100 रूपये प्रति व्यक्ति था । अब हम नीचे जाने के लिए केविल कार लाइन में लग गए, तभी सामने से केविल कार आती नजर आई और उसमे बैठकर पहाड़ों के बीच हरियाली का आनंद उठाते हुए कुछ मिनट में नीचे पहुँच गए । केविल से नीचे आकार एक वही पर एक दुकान से आमरस और मौसमी का जूस का आनंद लिए गया उसके बाद चल दिए नैनीझील में नौकायन के लिए ।

नैनीताल के सारे दर्शनीय स्थलों के बारे में विस्तार से जानने के लिए आप मेरे पूर्व लिखित लेख पर जा सकते है यहाँ पर क्लीक कीजिए → नैनीताल दर्शन

आरक्षण काउंटर से दो चप्पू वाली नौकाए बुक कराई । एक नौका का किराया था रुपये 210/- में मल्लिताल की तरफ की झील का पूरा चक्कर और 110/- में आधा चक्कर । अपना नंबर आने पर चल दिए झील में नौकायन पर, पहाड़ों के मध्य पानी में छप-छप चप्पू के आवाज के साथ मंद-मंद और शीतल हवा के बीच नौकायन ने इस यात्रा का आनंद दुगना कर दिया । लगभग पौन घंटे में एक चक्कर पूरा करने बाद झील के किनारे बड़ी-बड़ी मछली देखी जो किसी के खाना डालने के बाद पानी एक हलचल से पैदा कर रही थी, वैसे नैनी झील में मछलियों के कुछ भी खाने की चीज डालने पर प्रतिबन्ध है पर लोग तो लोग है मानते ही नहीं । झील में मछलियों के दर्शन करने के बाद भूंख सताने लगी तो झील के किनारे ही ऊपर एक चाय की दुकान से चाय - ब्रेड बटर, आमलेट खाकर भूंख शांत किया । शाम होने को थी और झील के किनारे और नैनादेवी मंदिर के आसपास के बाजार काफी रौनक थी, नैनादेवी के आसपास तिब्बती बाजार और आसपास के स्थल का जायजा लिया गया । करीब छह बजे के आसपास हम लोग मल्लीताल वाली पार्किंग (नैनीदेवी मंदिर के पास) में पहुँच गए, क्योंकि जगह मिलने के कारण स्नोव्यू से सीधे आकार ड्राइवर में कार यही पर खड़ी कर दी थी । चूँकि शाम के समय मॉल रोड किसी भी प्रकार के वाहन के लिए बंद कर दिया है, सो तल्लीताल बस स्टैंड तक जाने के लिए एक वैकल्पिक मार्ग ठंडी सड़क के ऊपर वाले पहाड़ से होकर गुजरता है । कार में सवार होकर हम लोग इसी रास्ते से वापिस चल दिए, यह रास्ता वाकई में बहुत संकरा, अधिक चढ़ाई और उतराई वाला था, जैसे-तैसे हम तल्लीताल बस तक पहुंच गए । यहाँ से आगे उसी भोवाली वाले पुराने रास्ते से होते हुए शाम के साढ़े सात बजे तक अपने भीमताल स्थित होटल पहुँच गए ।
  
अब आपके लिए प्रस्तुत है, इस यात्रा के दौरान खींचे गए कुछ चित्रों  और चलचित्र  का संकलन →

भोवाली वाले पेट्रोल पम्प के पीछे पहाड़ी पर स्थित एक सुन्दर घर (A Mountain House Near Petrol Pump, Almora Road ) 
माल रोड से झील का नजारा (A View from Mall Road)
मल्लीताल से करीब आधा किमी० दूर हाईकोर्ट रोड पर स्थित  दूसरी पार्किंग (Hight Court Road Second Parking of Nainital )

मॉल रोड से नजर आती केबिल कार (Cable Car View from the Mall Road, Nainital)

लवर्स पॉइंट पर निशाने के लिए लगी पहाड़ों के बीच में लगी बोतले (Bottle Target at Lovers Point)

बोटिंग स्टैंड से नैनी झील (A Naini Lake View from Boat Stand, Mallital, Nainital)
माँ भगवती नैना देवी जी का मंदिर (Chaste Naina Devi Temple at Nainital )

नैनादेवी मंदिर में झील के किनारे स्थापित शिवलिंग मंदिर (Shiv Temple at Naina Devi Temple Campus)
खुरपा ताल का दूरद्रश्य खुरपाताल द्रश्य पॉइंट से (Khurpa Tal from Khupra Tal View Point, Nainital)
खुरपा ताल का दूरद्रश्य खुरपाताल द्रश्य पॉइंट से (Khurpa Tal from Khupra Tal View Point, Nainital)
नैनीझील  का दूरद्रश्य , है न खूबसूरत  (NAINI LAKE  from  View Point, Nainital)

नयन आकार की  नैनीझील का दूरद्रश्य , (NAINI LAKE  from  View Point, Nainital)

मल्लीताल कर पार्किंग मेंखड़े वाहन, फोटो स्नोव्यू झील द्रश्य स्थल (Malli Tal Car Parking)

नयन आकार की  नैनीझील का दूरद्रश्य , (NAINI LAKE  from  View Point, Nainital)

हरी भरी वादियों के बीच एक स्कूल (A School in Greenery)

स्नो व्यू पर दुकाने (Snow View Chowk , Nainital)
स्नो व्यू मनोरंजक पार्क (Snow View Children Park, Nainital)

केविल कार (Cable Car)

स्नो व्यू पर एक पेड़ और उसके फूल

ग्राहकों के इंतजार में रंग-बिरंगी नौकाए (Colourful Boat at Mallital Boat Stand)

पहाड़ों में बसे सुन्दर घर और होटल

नैनी झील में मछलियाँ
नैनी झील में मछलियाँ


देखिये चलचित में नैनीझील  का दूरस्थ दर्शन स्नोवव्यू मार्ग से
चलिए अब इस लेख यही विराम देते है । आशा करता हूँ आपको यह लेख पसंद आया होगा, आप की टिप्पणी की प्रतीक्षा रहेगी । जल्द ही मिलते है इस श्रृंखला के अंतिम लेख के  साथ , तब तक के लिए आपका धन्यवाद  ! ▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬  
भीमताल-नैनीताल  से श्रृंखला के लेखो की सूची :
1. आगरा से भीमताल वाया बरेली (Agra to Bhimtal Via Bareilly → Road Review )
2. भीमताल झील →  प्रकृति से एक मुलाक़ात (Bhimtal Lake in Nainital Region)
3. नौकुचियाताल → प्रकृति का स्पर्श (NaukuchiyaTal Lake in Nainital Region )
4. नैनीताल दर्शन → (A Quick Tour to Lake City, Nainital)
5. श्री अहिक्षेत्र अतिशय तीर्थ क्षेत्र दिगम्बर जैन मंदिर, रामनगर गाँव, आमला, बरेली (Parshvnath Jain Temple) 

▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬ 
View Larger Map

30 comments:

  1. Wow.....Amazing pictures. Ritesh ji majaa aa gayaa. Ek se badhkar ek photo Nainitaal ke.

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद मुकेश जी... पोस्ट पढ़ने और उत्साहवर्धन करने के लिए...

      Delete
  2. Well covered Ritesh... Nainital never looked better!.... I wish saturation was bit less in your photos :-)

    ReplyDelete
    Replies
    1. Anunoy ji.. thanks alot for comment and appreciation.

      Delete
  3. Lovely pictures...the true beauty of Nainital stands out in the pictures you have taken...Kudos to you

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks a lot for comment and appreciation. Nikhil ji

      Delete
  4. मैं आपके इस लेख का ही इंतज़ार कर रहा था लेकिन मुझे मेरे काम की बात फिर भी नही मिली रितेश जी ! मैं ये जानना चाहता हूँ की केबल कार के लिए बुकिंग कहाँ होती है नैनीताल में ! मुझे भी वहां 14 नवम्बर को जाना है ! मेरे लिए आपकी ये पोस्ट एक मार्गनिर्देशन का काम कर रही है ! बहुत सुन्दर पिक्चर दी हैं आपने और पोस्ट भी विस्तृत है !

    ReplyDelete
    Replies
    1. टिप्पणी के धन्यवाद योगी जी ! केविल कार की अग्रिम बुकिंग (एक दिन पहले) उसी आफिस (टिकिट खिड़की) से होती है जहाँ से केबिल कार (मल्लीताल में मॉल रोड के पास) स्नोव्यू के लिए जाती है | वैसे मेरे ख्याल से यात्रा सीजन न होने के कारण शायद आपको 14 नवम्बर को अग्रिम बुकिग आवश्यकता न पड़े | नैनीताल के बारे में और विस्तार से जानने के लिए आप मेरे पूर्व लिखित इस लिंक पर जाए → http://safarhainsuhana.blogspot.in/2012/09/3.html

      Delete
  5. Replies
    1. धन्यवाद सुशील जी !

      Delete
  6. बहुत ही रोचक एवं ज्ञानवर्धक यात्रा वृत्तान्त एवं अत्यंत आकर्षक मनोरम चित्र ! बहुत आनंद आया !

    ReplyDelete
    Replies
    1. साधना जी .... आपका बहुत - बहुत आभार !

      Delete
  7. बहुत ख़ूबसूरत चित्र...लाज़वाब प्रस्तुति....

    ReplyDelete
    Replies
    1. हौसलाअफजाई के लिए धन्यवाद कैलाश जी !

      Delete
  8. बहुत ही सुन्दर,सजीव यात्रा वृतांत, पढ कर अपनी यात्रा की यादें ताजा हो ऊठी,10/10

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद सचिन त्यागी जी.....

      Delete
  9. Replies
    1. धन्यवाद दर्शन जी.....

      Delete
  10. नैनीताल की यादें ताजा हो गयी....बहुत बढ़िया विवरण

    ReplyDelete
    Replies
    1. टिप्पणी के लिए धन्यवाद हर्षिता जी...

      Delete
  11. Ritesh ji badhiya yatra rahi aapki ,photo bhi sunder hain.Main bhi family ke sath june2014 main Nainital gaya tha ,aapke Pichle blog ko padhkar sach main bahut madad mili.Aap ka bahut bahut dhanyawad.

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद रूपेश जी.... जानकर अच्छा लगा की आपको यह पोस्ट पसंद आई |
      आपकी नैनीताल यात्रा में मेरे पोस्ट से आपको मदद मिली यह जानकर तो बहुत ही खुशी हुई...

      Delete
  12. I read your post. It's really nice and I like your post. It’s very simple to understand........Thank you for sharing. Rajasthan Tour Packages

    ReplyDelete
  13. बहुत ही बढ़िया विवरण , बढ़िया चित्र संयोजन

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद अभय जी ।

      Delete
  14. बहुत ही सुन्दर लेख रितेश जी। चित्र भी काफी सुन्दर हैं।

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका बहुत बहुत धन्यवाद पांडेय जी

      Delete

ब्लॉग पोस्ट पर आपके सुझावों और टिप्पणियों का सदैव स्वागत है | आपकी टिप्पणी हमारे लिए उत्साहबर्धन का काम करती है | कृपया अपनी बहुमूल्य टिप्पणी से लेख की समीक्षा कीजिये |

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Ad.

Popular Posts