Search This Blog

Wednesday, September 3, 2014

नौकुचियाताल → प्रकृति का स्पर्श (NaukuchiyaTal Lake in Nainital Region )

Written by → Ritesh Gupta 
पिछली पोस्ट में आपने पढ़ा भीमताल के बारे में । अब इस श्रृंखला को आगे बढ़ाते हुए चलते है आगे के यात्रा वृतांत पर ।

हालांकि बारिश के कारण मौसम सुहाना हो गया था, पर बादलों के लुका-छिपी के बीच तेज और ठंडी हवाओं का चलना लगातार जारी था । भीमताल के रेस्तरा (जहाँ हमने खाना खाया था ) वाली पार्किंग के सामने से ही नौकुचियाताल के लिए रास्ता जा रहा था । कार में सवार हो हम लोग उसी रास्ते से नौकुचियाताल के लिए प्रस्थान कर गए । 

Naukuchiatal, Distt. Nainital ( कुमाऊं की खूबसूरत झील नौकुचियाताल )


नौकुचियाताल  (Naukuchiyatal Lake), जिला नैनीताल
नौ कोने वाली नौकुचियाताल की दूरी भीमताल से करीब पांच किलोमीटर है और रास्ता खूबसूरत नजारों से भरा पड़ा है । जिसे हम लोग कुछ मिनट के अंतराल के बाद पहुँच गए । समुंदतल से नौकुचियाताल ऊँचाई 1290 मीटर हैं, जो कि भीमताल के मुकाबले कुछ कम है । इस झील की लम्बाई एक किलोमीटर के आसपास, चौड़ाई करीब आधा किलोमीटर से ज्यादा और गहराई 40 मीटर से भी अधिक है । नौकुचियाताल के बारे और अधिक जानने के लिए आप मेरे द्वारा पहले कि गयी यात्रा लेख के माध्यम से जान सकते है, उस लेख पर जाने के लिए आप यहाँ पर क्लीक कीजिये → नौकुचियाताल (Naukuchiya Taal) → नौ कोने वाली सुन्दर झील ( (सुहाना सफ़र कुमाऊँ का…..5)

अगर इस झील की तुलना भीमताल से की जाए तो प्राकृतिक वातावरण, अनूठा आकार, अकूत हरियाली, स्वच्छ पानी और कम जनसाधारण के कारण यह झील बहुत ही खूबसूरत और मूल रूप में प्राकृतिक है । नौकुचियाताल के आरम्भ में पहले कमल के फूलों का एक छोटा सा तालाब पड़ता है, फिर मुख्य झील । यही पर इस झील का पहला बोट स्टैंड है, उसके बाद झील के किनारे-किनारे पेड़ो की हरियाली के बीच करीब एक किलोमीटर के खूबसूरत रास्ते से होते हुए झील के दूसरे किनारे के बोट स्टैंड तक पहुँच गए । इस स्थल पर कई प्रकार की मिश्रित दुकाने है जो यहाँ पर आने वाले सैलानियों को अपनी सेवा प्रदान करती है । 

तेज हवाओ के कारण झील में काफी तेज लहरे उठ रही थी जिसके कारण यहाँ पर बोट सेवाए ठप्प पड़ी हुई थी इस कारण हमारी झील में नौकायन की इच्छा दबी की दबी रह गयी । पर यहाँ के बोट स्टैंड से झील का विहंगम और मनोहारी द्रश्य नजर आ रहा था । काफी देर तक हम लोगो ने झील और उसके आसपास के क्षेत्र का भ्रमण किया और यहाँ के नजारों का आनंद लिया । संध्या वेला शुरू हो चुकी थी तो अब यहाँ से हम लोग वापिस कार में बैठकर वापिस भीमताल चल दिए

नौकुचियाताल से कुछ किलीमीटर चलने के बाद रास्ते में एक तरफ हनुमानजी की आदमकद प्रतिमा नजर आई, सो इस मंदिर पर कुछ देर के लिए रुक गए । इस मंदिर का नाम है हनुमानगढ़ मंदिर जो की यहाँ का काफी बड़ा और प्रसिद्ध मंदिर है । इस मंदिर के प्रगाढ़ में हनुमान जी कई फुट ऊँची प्रतिमा स्थापित है और मंदिर में वैष्णोदेवी जी का गुफा मंदिर भी है । मंदिर के दर्शन करने और कुछ फोटो खींचने के पश्चात हम लोग कुछ देर में भीमताल के अपने होटल में पहुँच गए

आज रात का हमारा खाना होटल के पैकेज में ही शामिल था, सो रात के करीब आठ बजे के आसपास होटल ताल पैराडाईज के तीसरी मंजील पर बने होटल के रेस्तरा में पहुँच गए रात के समय रेस्तरा की बालकनी/ लॉन से पूरा भीमताल का इलाका नजर आ रहा था, दूर तक पहाड़ों में बसे मकानों और होटलों की रौशनी टिमटिमाती नजर आ रही थी, चारों और एक सन्नाटा सा छाया हुआ था । ऐसा लग रहा था कि आकाश अपने तारों के साथ धरती पर उतर आया हो होटल के रेस्तरा में खाना वुफे तरीके से लगा हुआ था, इसका मतलब जो पसंद आये वो खाइए ।  होटल का खाना हमे स्वादिस्ट लगा, बड़े आराम से कुर्सी-मेज  पर बैठकर खाने का आन्नद लिया । रात के करीब साढ़े दस बज रहे थे और कल हमे नैनीताल भी जाना था । सो अब समय था आराम करने का तो हम लोग एक दूसरे को अलविदा करके अपने-अपने कमरे में आराम करने के लिए चले गए

अब आपके लिए प्रस्तुत है, इस यात्रा के दौरान खींचे गए कुछ चित्रों  और चलचित्र  का संकलन →

नौकुचियाचल के दूसरे बोट स्टैंड का जाता सुन्दर रास्ता (Way to Second Boat Stand of NaukuchiyaTal)
नौकुचियाचल के दूसरे बोट स्टैंड का जाता सुन्दर रास्ता (Way to Second Boat Stand of NaukuchiyaTal)
हरियाली के बीच नौकुचियाताल का द्रश्य (Naukuchiyatal Between Trees)
नौकुचियाताल का द्रश्य (Naukuchiyatal, Distt. Nainital )
बोट स्टैंड नौकुचियाताल का द्रश्य (From Boat Stand Naukuchiyatal, Distt. Nainital )
बोट स्टैंड नौकुचियाताल का द्रश्य (From Boat Stand Naukuchiyatal, Distt. Nainital )
स्टैंड पर खड़ी तरह-तरह की रंग बिरंगी नौकाए ( Boat Stand Naukuchiyatal, Distt. Nainital )
झील के बगल के छोटे रास्ते से नौकुचियाताल का द्रश्य (Naukuchiyatal, Distt. Nainital )
बतख के आकार के पेडल नौकाए (Naukuchiyatal, Distt. Nainital )
तरह-तरह की रंग बिरंगी नौकाए ( Naukuchiyatal, Distt. Nainital )
बतख के आकार के पेडल नौकाए (Naukuchiyatal, Distt. Nainital )
नौकुचियाताल का एक द्रश्य
भीमताल के रास्ते हनुमानगढ़ मंदिर (Hanumangarh Temple on the way to Bhimtal)
ऊपर से नजर आता हनुमानगढ़ मंदिर (Hanumangarh Temple)
मंदिर में स्थापित हनुमानजी की आदमकद प्रतिमा (A big statue of Shri Hamumanji at Hanumangarh Temple)
हनुमानगढ़ मंदिर के समीप संध्या पहाड़ी संध्या वेला का द्रश्य (At Hanumangarh Temple)
तेज हवाओं के बीच नौकुचियाताल का एक वीडियो

रात की जगमगाहट में भीमताल
 चलिए अब इस लेख यही विराम देते है । आशा करता हूँ आपको यह लेख पसंद आया होगा, आप की टिप्पणी की प्रतीक्षा रहेगी । जल्द ही मिलते है इस नैनीताल दर्शन के एक और नए लेख के साथ , किसी भी प्रकार की त्रुटि और भूल-चूक के लिये क्षमा प्रार्थी रहूँगा । धन्यवाद  !

▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬   
भीमताल-नैनीताल  से श्रृंखला के लेखो की सूची :
1. आगरा से भीमताल वाया बरेली (Agra to Bhimtal Via Bareilly → Road Review )
2. भीमताल झील →  प्रकृति से एक मुलाक़ात (Bhimtal Lake in Nainital Region)
3. नौकुचियाताल → प्रकृति का स्पर्श (NaukuchiyaTal Lake in Nainital Region )
4. नैनीताल दर्शन → (A Quick Tour to Lake City, Nainital)
5. श्री अहिक्षेत्र अतिशय तीर्थ क्षेत्र दिगम्बर जैन मंदिर, रामनगर गाँव, आमला, बरेली (Parshvnath Jain Temple)  
▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬▬  
View Larger Map

27 comments:

  1. बढ़िया चित्रावली।
    यत्रा वृत्तान्त अच्छा लगा।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद सर जी....

      Delete
  2. आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 04-09-2014 को चर्चा मंच पर चर्चा - 1726 में दिया गया है
    आभार

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद दिलबाग जी

      Delete
  3. रितेश जी राम राम, बहुत अच्छी प्रस्तुति, धन्यवाद.....

    ReplyDelete
    Replies
    1. राम राम प्रवीण जी.....
      टिप्पणी के लिए शुक्रिया

      Delete
  4. सुंदर चित्रावली के साथ रोचक यात्रा-वृतांत.

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद राकेश जी

      Delete
  5. नैनीताल की तो बात ही अलग है ---खूबसूरत दृश्यावली

    ReplyDelete
    Replies
    1. टिप्पणी के लिए धन्यवाद दर्शन जी.....

      Delete
  6. रोचक एवं आवश्यक सूचनाओं से लैस सार्थक यात्रा वृत्तांत एवं बहुत ही खूबसूरत चित्र !

    ReplyDelete
    Replies
    1. टिप्पणी के लिए धन्यवाद साधना वेद जी.....

      Delete
  7. जब दो नयनों का दीवाना हुआ जा सकता है, ये तो नयनी ताल है। :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. टिप्पणी के लिए धन्यवाद ललित सर जी.....

      Delete
  8. गज़ब के फोटो है ... खूबसूरती लाजवाब है ताल की ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद दिगम्बर जी

      Delete
  9. Nice picture of this beautiful place...Keep traveling, keep sharing :-)

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks a lot Nikhil ji ...for lovely comment

      Delete
  10. beautifully written post with great pics.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thank You very much ...for lovely comment

      Delete
  11. I'll right away clutch your rss as I can not to find your email subscription link or
    e-newsletter service. Do you've any? Please allow me know in order
    that I may subscribe. Thanks.

    My page Copy Protection

    ReplyDelete
  12. What I did reading this post you know, I refreshed my memories the visit to Nainital during summer of 2010. It was raining cats and dog when we visited Naukuchiyatal. Pics in your post are fabulous! Nice Post! Thanks

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks a lot Anupam ji.... For coming & here & Nice Comment of my Post...

      Delete
  13. मजा आ गया यह यात्रा वृतांत पढकर.

    ReplyDelete

ब्लॉग पोस्ट पर आपके सुझावों और टिप्पणियों का सदैव स्वागत है | आपकी टिप्पणी हमारे लिए उत्साहबर्धन का काम करती है | कृपया अपनी बहुमूल्य टिप्पणी से लेख की समीक्षा कीजिये |

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Ad.

Popular Posts